अफगानिस्तान हमले के 6 घायल ईलाज के लिए दिल्ली आये

मारे गए 13 हिन्दू-सिख मृतकों की अस्थियां कीरतपुर साहिब में होंगी जल प्रवाह

नई दिल्ली (19 जुलाई 2018)ः बीते दिनों अफगानिस्तान में हुए आत्मघाती हमले के दौरान मारे गये 12 सिख एवं 1 हिन्दू की अस्थियों को आज दिल्ली लाया गया। दिल्ली में गुरुद्वारा अर्जुन देव जी, न्यु महाबीर नगर में 2 दिनों संगतों के दर्शन के लिए रखने के बाद अस्थियों को कीरतपुर साहिब में जल प्रवाह किया जायेगा। इंदिरा गांधी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा पर शिरोमणी अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल, शिरोमणी कमेटी अध्यक्ष भाई गोबिन्द सिंह लौंगोवाल एवं दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजीत सिंह जी.के. ने मृतकों के परिवारिक साथीयों को सांत्वना देने के बाद अस्थियों को श्रद्धासुमन अर्पित किये। 

 
अस्थियों के साथ ही हमले के दौरान घायल हुए 6 सिख भी दिल्ली के एम्स में ईलाज करवाने के लिए साथ आये हैं। जिनमें सतपाल सिंह, गुरमीत सिंह, मनजीत सिंह, मनिन्दर सिंह, नरेन्दर सिंह, नरेन्दर पाल सिंह एवं रविन्दर कौर शामिल है। इसके पहले इकबाल सिंह को भी दिल्ली में ईलाज के लिए लाया गया था। दरअसल 1 जुलाई 2018 को अफगानिस्तान के जलालाबाद शहर में राष्ट्रपति को मिलने जा रहे सिख नेताओं के प्रतिनिधिमंडल को आत्मघाती हमलावर ने स्वयं को बम से उड़ा दिया था।
 
पत्रकारों से बातचीत करते हुए बादल ने कहा कि अफगानिस्तान के सिखों को न पूरा होने वाला घाटा हुआ है। घायल हुए सिखों के ईलाज के लिए केंद्रीय विदेश मंत्रालय के साथ बातचीत करने के बाद एम्स में ईलाज का प्रबंध किया गया है। घायल हुए सिखों के साथ आये तिमारदारों के रहने आदि का खर्च दिल्ली कमेटी वहन करेगी। हमारे लिए सब से जरूरी अफगानी सिखों को इस बात का भरोसा देना है कि भारत के सिख उनके साथ तन,मन एवं धन से खड़े हैं। 
 
यहां बता दें कि दिल्ली कमेटी एवं शिरोमणी कमेटी ने अलग-अलग तौर पर प्रति मृतक को 1 लाख रूपये एवं प्रति घायल को 50 हजार रूपये की सहायता राशि देने का पहले ही ऐलान किया हुआ है। अफगानिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय के कोटे से सांसद का चुनाव लड़ रहे अवतार सिंह खालसा की इस आत्मघाती हमले में हुई आकस्मिक मौत के बाद अब उनके पुत्र नरिन्दर सिंह खालसा को उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ना है, की इच्छा थी कि उनके पिता जी की अस्थियां भारत में जल प्रवाह की जाये। इससे पहले दिल्ली कमेटी द्वारा मृतकों के नाम सच की दीवार पर लिखने का भी ऐलान किया गया है। इस अवसर पर शिरोमणी अकाली दल के वरिष्ठ नेता बिक्रम सिंह मजीठीआ, दिल्ली कमेटी महासचिव मनजिन्दर सिंह सिरसा, धर्मप्रचार कमेटी चेयरमैन परमजीत सिंह राणा तथा गुरुद्वारा बंगला साहिब के मुख्य ग्रंथी ज्ञानी रणजीत सिंह मौजूद थे।
Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *