पंजाब पुलिस द्वारा दविन्दर बम्बीहा शूटर ग्रुप के 11 गैंगस्टर गिरफ्तार
गैंगस्टरों के पास से विभिन्न तरह के 17 हथियार बरामद
सुखप्रीत बूड्डा, गुरबख़श सेवेवाला और दिलप्रीत गैंगस्टर से सबंधित ने यह गैंगस्टर
चंडीगढ़ 30 जुलाई: पंजाब में गैंगस्टरों के विरुद्ध अपनी असरदार मुहिम जारी रखते हुए पंजाब पुलिस ने एक बड़े गैंग्स्टरों के ग्रुप का पर्दाफाश करके बड़ी प्राप्ति की है। इंटेलिजेंस विंग के संगठित क्राइम कंट्रोल यूनिट (आंकू) ने यह कार्यवाही करते हुए अमन कुमार उर्फ अमना जैतों और यादविन्दर सिंह उर्फ यादू जैतों समेत दविन्दर बम्बीहा शूटर ग्रुप से सबंधित 9 अन्य गैंगस्टरों को गिरफ़्तार किया है जिनके पास से विभिन्न तरह के 17 हथियार बरामद किये गए हैं।
आज यहाँ एक प्रैस कान्फ्रेंस के दौरान जानकारी देते हुए संगठित क्राइम कंट्रोल यूनिट के आई.जी.पी. इंटेलिजेंस कँवर विजय प्रताप सिंह ने बताया कि अब तक की प्राथमिक जांच के अनुसार यह दोनों गैंगस्टर गत 17 जून को रामपुरा फूल, बठिंडा में हरदेव सिंह उर्फ गोगी जटाना को उसके ही पोल्ट्री फार्म में कत्ल करने के दोष में वांछित थे। इनके खि़लाफ़ आई.पी.सी. और आर्मज़ एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत इस संबंधी एफ.आई.आर पहले ही दजऱ् थी।
आई.जी.पी. इंटेलिजेंस ने बताया कि यह कत्ल कथित तौर पर मोगा जिले के नामी गैंगस्टर सुखप्रीत सिंह उर्फ बूड्डा और उसके साथी गुरबख़श सिंह सेवेवाला, फरीदकोट के इशारे पर किया गया था। इस कत्ल के बाद सुखप्रीत बूड्डा ने इस कत्ल की जि़म्मेदारी लेने के लिए इस हमले में अपने कथित तौर पर शामिल होने का फेसबुक आई.डी. पर खुलासा भी किया था। अन्य गिरफ्तार गैंगस्टर वीना बुट्टर उर्फ वरिन्दर सिंह मोगा ने अमन जैतों को हथियार मुहैया करवाए थे जो कि गोगी जटाना के कत्ल कांड में इस्तेमाल कियेे गए थे। वह भी इसी तरह की साजिशों के कम से -कम 6 मामलों में वांछित है।
उन्होंने कहा कि इसी ग्रुप के गिरफ़्तार किये सदस्यों में बिट्टू महिलकलां उर्फ अरशदीप सिंह बरनाला भी शामिल है, जो कि चोरी, डकैती, कार चोरी आदि जैसे करीब 34 मामलों में शामिल है। इस ग्रुप के बाकी सदस्यों में रजत कुमार उर्फ साफ़ी फरीदकोट, करन मंगला बरनाला, सुक्खा उर्फ विक्की फरीदकोट, पलविन्दर सिंह उर्फ लिखारी मोगा, सुमित बजाज उर्फ लंढी फरीदकोट, आलम भ_ल उर्फ क्रांति बरनाला और लखविन्दर सिंह फरीदकोट शामिल हैं। यह सभी दोषी पंजाब और हरियाणा में अलग -अलग मामलों जैसे कत्ल, कत्ल करने की कोशिश, फिरौती, कार चोरी, नशा तस्करी, अवैध हथियारों का लेन -देन और अन्य चोरियों में शामिल थे।
कँवर विजय प्रताप सिंह ने बताया कि इन गैंग -सदस्यों से कुल 17 हथियार बरामद किये गए हैं जिनमें 9 पिस्तौलें, 5 रिवाल्वर, 1 राइफल और 2 बंदूकों शामिल हैं। इनमें से कुछ विदेशी हथियार भी शामिल हैं। इन गैगस्टरों के कब्ज़े में से 2 सकारपीयो और 1 हुंडाई करेटा कार भी बरामद की गई है। प्राथमिक जांच के अनुसार यह करेटा कार कुरूक्षेत्र से चोरी की गई थी और दिलप्रीत उर्फ बाबा और सुखप्रीत उर्फ बूड्डा द्वारा फि़ल्म अदाकार परमीश वर्मा पर हमले की घटना में इसी कार का प्रयोग किया गया था।
उन्होंने बताया कि इसी साल मार्च के महीने नगर कौंसिल नेहाल सिंह वाला के प्रधान की टोएटा इनोवा कार जलाने के लिए भी यही ग्रुप जि़म्मेदार था। इसके इलावा पिछले साल नवंबर में एक अन्य मामले में निजी दुश्मनी के कारण बठिंडा में गुरप्रीत सिंह महिमा सरजा को अमन जैतो, जसप्रीत सिंह उर्फ लाडी और राकेश उर्फ काकू द्वारा गोली मार कर बुरी तरह जख्मी कर दिया गया था। मार्च 2018 में अमन जैतों, अजय फऱीदकोटिया, जसप्रीत उर्फ लाडी ने सिवल लाईनज़ बठिंडा इलाके में से बंदूक की नोक पर एक बलीनो कार भी चोरी की थी। इसके इलावा नवंबर 2017 में एक अन्य हथियारबंद ठगी के मामले में अमन जैतों, अजय फऱीदकोटिया, मन्ना महिलकलां, टाइगर ने धक्के से चावलों के भरे ट्रक को चोरी करके बेच दिया था। इन गैंग्स्टरों ने नवंबर 2017 में अमन जैतों ने मन्ना महिलकलां और अन्यों के साथ संगरूर जिले में से सविफट डिज़ायर कार चोरी की और मार्च 2018 में अमन जैतों, अजय फऱीदकोटिया, जसप्रीत उर्फ लाडी ने जगरूप सिंह उर्फ जूपा को अमृतसर शहर के इलाके में बुरी तरह ज़ख्मी कर दिया था।
आई.जी.पी. इंटेलिजेंस ने बताया कि यह समूचा ऑप्रेशन संगठित क्राइम कंट्रोल यूनिट के ए.आई.जी. गुरमीत सिंह चौहान और सन्दीप गोयल की निगरानी अधीन चलाया जा रहा है और संगठित क्राइम कंट्रोल यूनिट की विभिन्न टीमों द्वारा इंस्पेक्टर बिकरमजीत सिंह बराड़, सब -इंस्पेक्टर बलविन्दर सिंह और सब -इंस्पेक्टर सिमरजीत सिंह का नेतृत्व अधीन अगामी कार्यवाही चलाई जा रही है। उन्होंने बताया कि इन सभी मुलजिमों को राजपुरा की अदालत में पेश किया गया और 6 दिनों का पुलिस रिमांड दिया गया है। इस सम्बन्धित अगामी जांच चल रही है और इस ऑप्रेशन में कई ओैर भी गिरफ़्तारियाँ होने की संभावना है।
उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस इन गैंग्स्टरों के मुकदमों की अदालत में पूरी पैरवी करेगी जिससे यह सज़ा से बच न सकें। उन्होंने यह भी कहा कि जेलों में से अपनी कार्यवाहियों चला रहे बंद गैंगस्टरों पर भी सख्त निगाह रखी जा रही है जिससे पंजाब को अपराधों और गैंगस्टरों से मुक्त किया जा सके।
Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *