अमृतसर स्मार्ट सिटी प्रोजैकट उड़ान भरने के लिए तैयार
गुरू की नगरी के सौंदर्यकरण और सर्वपक्षीय विकास के लिए 150 करोड़ रुपए की लागत के प्रोजेक्टों का जल्द होगा टैंडर- नवजोत सिंह सिद्धू
-पहले पड़ाव में एल.ई.डी. लाईटों, मल्टीलैवल कार पार्किंग, सेफ सिटी का एकीकृत कमांड और कंट्रोल केंद्र और पार्कों का होगा सौंदर्यकरण
-हेरिटेज स्ट्रीट में मिलेगी मुफ़्त वाई-फाई सहूलत
-पहले पड़ाव के सभी प्रोजैकट 6 से 12 महीनों के अंदर होंगे शुरू, रख-रखाव पर होगा ख़ास ध्यान
चंडीगढ़, 18 जुलाई :  ‘गुरू की नगरी अमृतसर को विकास के समूह मापदण्डों के पक्ष से उच्च कोटी का शहर बनाने और शहर निवासियों और श्रद्धालुओं की सुविधा को विशेष ध्यान में रखते पंजाब सरकार द्वारा 150 करोड़ रुपए की लागत के साथ स्मार्ट सिटी प्रोजैकट बनाऐ गए हैं जिनका टैंडर जल्दी ही जारी किया जायेगा। स्मार्ट सिटी के इस प्रोजैकट के उड़ान भरने से अमृतसर भविष्य का शहर बन कर उभरेगा।’ यह प्रगटावा स्थानीय निकाय मंत्री स. नवजोत सिंह सिद्धू ने आज यहाँ जारी प्रैस बयान के द्वारा किया।
स. सिद्धू ने कहा कि अमृतसर के स्मार्ट सिटी प्रोजैकट के सभी पक्षों को बारीकी से पढऩे के बाद पहले पड़ाव के प्रोजैकट तय हो गए हैं। पहले पड़ाव में 150 करोड़ रुपए के इन प्रोजेक्टों में एल.ई.डी. लाईटों, मल्टीलैवल कार पार्किंग, हेरिटेज स्ट्रीट पर मुफ़्त वाई-फाई की सुविधा, सेफ सिटी का एकीकृत कमांड और कंट्रोल केंद्र और पार्कों और खाली स्थानों के विकास और सौंदर्यकरण का काम होगा। यह प्रोजेक्ट अगामी 6 से 12 महीनों तक शुरू होंगे जिनके रख-रखाव को विशेष प्राथमिकता दी जा रही है। उन्होंने कहा कि सभी प्रोजेक्टों के रख-रखाव का जिम्मा 3 से 10 वर्षों तक ही होगा। इन प्रोजेक्टों को करने वाली कंपनी ही इनकी तय समय के दौरान रख-रखाव भी करेगी। उन्होंने कहा कि पहले पड़ाव में लोगों की सबसे अधिक प्राथमिकता वाले कामों को शामिल किया गया है जिनको शुरू करने की सबसे अधिक माँग की जा रही थी।
स्मार्ट सिटी प्रोजेक्टों के विस्तार में जानकारी देते हुए स्थानीय निकाय मंत्री ने कहा कि शहर में 34.57 करोड़ रुपए की लागत से 63000 एल.ई.डी. लाईटें लगेंगी। यह काम छह महीनों में शुरू होगा और इसका रख-रखाव 3 से 5 सालों तक के लिए होगा। अब तक 3000 लाईटें पहले ही लग चुकी हैं और नई स्थापित होने के बाद इनकी संख्या 66,000 हो जायेगी। स.सिद्धू ने आगे बताया कि 2.3 करोड़ रुपए की लागत से हेरिटेज स्ट्रीट पर श्रद्धालुओं को मुफ़्त वाई-फाई की सुविधा मिलेगी।
स. सिद्धू ने आगे जानकारी देते हुए बताया कि अमृतसर शहर में धार्मिक और ऐतिहासिक स्थानों पर दर्शन करने के लिए आने वाले श्रद्धालुओं की बड़ी संख्या को ध्यान में रखते हाल बाज़ार में कैरो मार्केट में 18.24 करोड़ रुपए की लागत से मल्टीलैवल कार पार्किंग बनाई जा रही है। पंजाब में अपने किस्म की पहली आटोमेटिड कार पार्किंग में 500 के करीब वाहनों की पार्किंग सुविधा होगी जिनमें 415 चार पहिया और 70 दो पहिया वाहन शामिल होंगे। यह प्रोजैकट 12 महीनों में शुरू हो जायेगा और इसका रख-रखाव 10 सालों के लिए होगा।
स्थानीय निकाय मंत्री ने बताया कि सेफ सिटी वाला एकीकृत कमांड और कंट्रोल केंद्र (आई.सी.सी.) प्रोजैकट भी अगामी 12 महीनों में शुरू हो जायेगा। 94 करोड़ रुपए की लागत वाले इस प्रोजैकट के अंतर्गत सुरक्षा पक्ष से पूरे शहर पर निगहें रखी जा सकेगी और सभी कामों की निगरानी होगी। सार्वजनिक सहूलतें, प्रदूषण चैकअप आदि सहूलतों से लैस इस प्रोजैकट के अंतर्गत सभी शहर में कैमरे लगाए जाएंगे। इस प्रोजैकट के रख-रखाव 5 सालों तक के लिए होगा।
स्मार्ट सिटी के पहले पड़ाव में शहर के सभी पार्कों और खाली स्थानों का विकास और सौंदर्यकरण भी होगा। 3.83 करोड़ रुपए की लागत वाला यह प्रोजैकट 8 महीनों में शुरू होगा और इसका रख-रखाव 3 साल के लिए होगा। स. सिद्धू ने कहा कहा अगामी सालों के लिए रख-रखाव का जिम्मा साथ के साथ ही देने से भविष्य में नगर निगम पर कोई बोझ नहीं होगा। उन्होंने कहा कि पहले पड़ाव के प्रोजैकट के सिरे चढऩे के बाद शहर को नया रूप मिलेगा।
स्थानीयनिकाय मंत्री ने कहा कि दूसरे पड़ाव में सिवरेज व्यवस्था, वाटर सप्लाई, ड्रेनेज, स्मार्ट सडक़ें, पर्यटन पक्ष से विकास और फ्लाईओवर के नीचे वाले स्थानों के सौंदर्यकरण का काम किया जायेगा।
Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *