नशे की समस्या से निपटने के लिए राज्य में विशेष अभियान चलाया जाएगा : मुख्यमंत्री

25th July 2018: राज्य में नशाखोरी को रोकने के लिए राज्य सरकार के संबंधित विभागों को शामिल करने के अलावा इस सामाजिक बुराई से निपटने के लिए पंचायतों, महिला मण्डलों, स्कूली बच्चों, अभिभावकों तथा अध्यापकों की सक्रिय सहभागिता के साथ एक विशेष अभियान चलाया जाएगा। यह बात मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां प्रेस क्लब शिमला के सदस्यों के साथ संवाद करते हुए कही।

जय राम ठाकुर ने कहा कि पुलिस विभाग को नशा तस्करों पर शिकंजा कसने के लिए विशेषकर राज्य के सीमान्त क्षेत्रों में कड़ी एवं नियमित निगरानी करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में व्याप्त इस बुराई पर अंकुश के लिए राज्य स्तरीय विशेष कार्य बल का गठन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पंजाब, हरियाणा तथा उत्तराखंड जैसे पड़ोसी राज्यों के साथ मुख्यमंत्री स्तर की नियमित बैठकें करने के प्रयास किए जाएंगे ताकि समाज से इस बुराई को समाप्त करने के लिए एक संयुक्त कार्यनीति तैयार की जा सके। उन्होंने कहा कि अंतरराजीय नशा गिरोह को रोकने के लिए पड़ोसी राज्यों के साथ संयुक्त पुलिस कार्रवाई की जाएगी।
उन्होंने इस सामाजिक बुराई तथा नशीले पदार्थों के दुष्प्रभावों के बारे में लोगों में जागरूक पैदा करने के लिए मीडिया के सदस्यों से हार्दिक सहयोग देने का आग्रह किया। राज्य में नशीले पदार्थों के बारे में विशेष जागरूकता अभियान चलाए जाने के प्रेस क्लब के प्रयासों की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह खुशी की बात है कि अब समाज का प्रत्येक वर्ग नशे के दुष्प्रभावों के प्रति संवेदनशील है क्योंकि यह समाज के ढांचे को बर्बाद कर रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने निर्णय लिया है कि कारगिल शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए प्रदेशभर में कारगिल दिवस मनाया जाएगा।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने मीडिया के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध कायम किए हैं और उनके कल्याण के लिए अनेक योजनाएं आरम्भ की गई हैं। उन्होंने कहा कि हाल ही में प्रदेश मंत्रिमण्डल ने हिमाचल प्रदेश पत्रकार कल्याण योजना के अंतर्गत मान्यता प्राप्त पत्रकारों तथा सेवानिवृत मान्यता प्राप्त पत्रकारों को चिकित्सा आपात के मामलों में वित्तीय सहायता को मौजूदा 50 हजार रुपये से बढ़ाकर 2.50 लाख रुपये करने का निर्णय लिया है और योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए 1.80 लाख रुपये की सालाना पारिवारिक आय के मानदंड को भी समाप्त कर दिया है।
शिमला प्रेस क्लब के अध्यक्ष धनंजय शर्मा तथा महासचिव अनिल भारद्वाज ने प्रेस क्लब भवन के निर्माण के लिए वैकल्पिक भूमि प्रदान करने लिए मुख्यमंत्री से आग्रह किया क्योंकि प्रेस क्लब के लिए सब्जी मंडी में आवंटित भूमि कोर क्षेत्र के अंतर्गत आती है और राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के आदेशों के बाद इस स्थान पर निर्माण संभव नहीं है।
प्रेस क्लब के सदस्यों ने प्रेस क्ल्ब शिमला द्वारा आगामी 22 अगस्त, 2018 को नशे के विरूद्ध जागरूकता पैदा करने के संबंध में आयोजित किए जाने वाले समारोह की अध्यक्षता करने के लिए मुख्यमंत्री को आमंत्रित किया।
प्रेस क्लब के सदस्य तथा अन्य वरिष्ठ पत्रकार भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

 

Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *