मुख्य सचिव ने सबके लिए आवास मिशन की एसएलएसएमसी बैठक की अध्यक्षता की
3434 लाभार्थियों को समाविश्ठ करने वाली 20 डीपीआर को मंजूरी मिली
श्रीनगर 19 जुलाई 2018-मुख्य सचिव बी.वी.आर सुब्रामनियम ने प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत जम्मू तथा कष्मीर में ‘सबके लिए आवास’ (एचएफए) षहरी मिषन को लागू करने हेतु राज्यस्तरीय आवंटन एवं निगरानी समिति की बैठक की आज अध्यक्षता की।
‘सबके लिए आवास’ षहरी मिषन 2 चरणों में 78 कस्बों तथा श्रीनगर और जम्मू के दोनों राजधानी षहरों में लागू किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के 4 अंष हैं, जिनमें लाभार्थी द्वारा आवास का निर्माण, भागेदारी में वहन योग्य आवास, क्रेडिट लिंकड सब्सिडी स्कीम तथा झोंपड़पट्टियों का यथास्थान पुनर्विकास षामिल है।
पीएमएवाई के पहले चरण में 23 कस्बों तथा जम्मू और श्रीनगर और दूसरे चरण में षेश 55 षहर/कस्बों को आवास एवं षहरी मामलों के केन्द्रीय मंत्रालय द्वारा केन्द्र सहायता के लिए मंजूरी दी गई है।
बीएलसी अंष के तहत, जिसमें आर्थिक रुप से कमजोर वर्ग के परिवारों को 1.66 लाख रुपये की विŸाीय सहायता उपलब्ध करवाई जाती है, अब तक केन्द्रीय मंत्रालय ने 14036 लाभार्थियों को षामिल कर 90 डीपीआर को मंजूरी दी है।
एसएलएसएमसी ने आज कष्मीर संभाग के 8 षहरों तथा जम्मू संभाग के 6 षहरों के लिए तैयार 20 और नईं डीपीआर को मंजूरी दी है।
कस्बों/षहरों के चरण 1 के 24071 लाभार्थियों, जिन्हें बीएलसी तत्व के अंतर्गत मंजूरी दी गई है, उनमें से 14036 लाभार्थियों की डीपीआर को पहले से ही मंजूरी दी जा चुकी है। जबकि 233 इकाईयां पूरी की जा चुकी हैं, 2500 इकाईयों का निर्माण पूरा होने के विभिन्न चरणों में है।
मुख्य सचिव ने जेएंडके हाउसिंग बोर्ड से नगर पालिका समितियों के साथ समन्वय बनाकर कार्यक्षमता में तेजी लाकर एक माह के समय के भीतर सभी 17500 लाभार्थियों तक पहुंचने तथा इकाईयों की अधिकतम संख्या का कार्य षुरू करने के लिए कहा। उन्होंने जेएंडके हाउसिंग बोर्ड से 15 सितम्बर 2018 तक षेश 6600 की डीपीआर को अंतिम रूप देने के लिए भी कहा।
एसएलएसएमसी ने जम्मू तथा श्रीनगर विकास प्राधिकरणों तथा जेएंडके हाउसिंग बोर्ड द्वारा वहन योग्य आवास सहभागी के तहत 1008 इकाईयों के निर्माण की मंजूरी दी है। समिति ने 15168 लाभार्थियों को समाविश्ठ कर चरण 2 के 55 चुने गये षहरों/कस्बों के आवास मांग सर्वेक्षण तथा सबके लिए आवास कार्य योजना को स्वीकृति दी है।
बैठक में बताया गया कि 4024.81 करोड़ की राषि के साथ पीएमएवाई-एचएफए के तहत राज्य में कुल 66277 लाभार्थियों की पहचान/जांच की गई है, जिनमें झोंपड़पट्टियों का यथास्थान पुनर्विकास के तहत 4583, क्रेडिट लिंकड सब्सिडी 24523, भागेदारी में वहन योग्य आवास के तहत 13100 तथा लाभार्थी द्वारा आवास के निर्माण के तहत 24071 लाभार्थी षामिल हैं।

Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *