सात सरकारी विश्वविद्यालयों,राजकीय महाविद्यालयों तथा सरकारी सहायता प्राप्त महाविद्यालयों के शैक्षणिक एवं गैर-शैक्षणिक कर्मचारियों को 1 जनवरी 2016 से सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुरूप वेतनमान देने को स्वीकृति प्रदान की है

Share this News:


सरकार ने राज्य के सात सरकारी विश्वविद्यालयों,राजकीय महाविद्यालयों तथा सरकारी सहायता प्राप्त महाविद्यालयों के शैक्षणिक एवं गैर-शैक्षणिक कर्मचारियों को 1 जनवरी 2016 से सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुरूप वेतनमान देने को स्वीकृति प्रदान की है

चंडीगढ़, 3 अगस्त-हरियाणा सरकार ने राज्य के सात सरकारी विश्वविद्यालयों,राजकीय महाविद्यालयों तथा सरकारी सहायता प्राप्त महाविद्यालयों के शैक्षणिक एवं गैर-शैक्षणिक कर्मचारियों को 1 जनवरी 2016 से सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुरूप वेतनमान देने को स्वीकृति प्रदान की है। इससे सरकारी खजाने पर 230.6 करोड़ वार्षिक का अतिरिक्त भार पड़ेगा।

        हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने आज इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में वेतन वृद्धि से प्रदेश के विभिन्न महाविद्यालय और विश्वविद्यालयों में 5809 पदों पर कार्यरत शिक्षकों और गैर शिक्षकों को लाभ होगा।

        वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने बताया की सातवां वेतनमान लागू हो जाने के बाद विश्विद्यालयों और महाविद्यालयों के असिस्टेंट प्रोफेसर्स को 57 हज़ार 700 रुपये से लेकर 79 हज़ार 800, एसोसिएट प्रोफेसर्स को 1 लाख 31 हज़ार 400 रुपये और प्रोफेसर्स को 1 लाख 44 हज़ार 200 रुपये से लेकर 1 लाख 82 हज़ार 200 वेतनमान मिलेगा, जबकि विश्विद्यालयों और महाविद्यालयों के असिस्टेंट लाइब्रेरियन को 57 हज़ार 700 रुपये से लेकर 68 हज़ार 900 रुपये, डिप्टी लाइब्रेरियन को 79 हज़ार 800 रुपये से लेकर 1 लाख 31 हज़ार 400 रुपये और लाइब्रेरियन को 1 लाख 44 हज़ार 200 रुपये वेतन मिलेगा।

        उन्होंने बताया की विश्वविद्यालओं और महाविद्यालयों के फिजिकल एजुकेशन और स्पोट्र्स विभागों के एसिस्टेंट डायरेक्टर को 57 हज़ार 700 रुपये से लेकर 68 हजार 900 रुपये, डिप्टी डायरेक्टर को 79 हज़ार 800 रुपये से लेकर 1 लाख 31 हज़ार 400 रुपये और डायरेक्टर को 1 लाख 44 हज़ार 200 रुपये वेतनमान मिलेगा।

        वित्त मंत्री ने बताया की अब विश्विद्यालयों के कुलसचिव और परीक्षा नियंत्रक को 1 लाख 44 हज़ार 200 रुपये, उप कुलसचिव और उप परीक्षा नियंत्रक को 79 हज़ार 800 रुपये और सहायक कुल सचिव और सहायक परीक्षा नियंत्रक को 56 हज़ार 100 रुपये वेतनमान मिलेगा। उन्होंने बताया की अब प्रतिकुलपति और कुलपति को भी सातवें वेतन आयोग के अनुसार वेतनमान मिलेगा।

        कैप्टन अभिमन्यु ने बताया की हरियाणा के सरकारी महाविद्यालयों में 1990, सरकारी सहायता प्राप्त महाविद्यालयों में 2956, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, कुरुक्षेत्र में 332,महर्षि दयानंद विश्विद्यालय, रोहतक में 287, चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय, सिरसा में 64,चौधरी बंसीलाल विश्वविद्यालय, भिवानी में 12, चौधरी रणबीर सिंह विश्वविद्यालय, जींद में 18,भगत फूल सिंह महिला विश्वविद्यालय, खानपुर कलां, सोनीपत में 116 और इंदिरा गाँधी विश्वविद्यालय, रेवाड़ी में 34 पदों पर कार्यरत शिक्षकों और गैर शिक्षकों को वेतन बढ़ोतरी का लाभ मिलेगा।

Share this News:

Author

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *