पंजाब के मुख्यमंत्री ने नशा विरोधी जंग में सहयोग के लिए हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और राजस्थान के मुख्यमंत्रियों को लिखे पत्र
दिल्ली से नशे की तस्करी रोकने के लिए राजनाथ सिंह से भी सहयोग की माँग
चंडीगढ़, 19 जुलाई – पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने नशे की तस्करी और पैदावार पर नियंत्रण के लिए हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और राजस्थान के मुख्यमंत्रियों से सहयोग के लिए पत्र लिखा है । उन्होंने इस सम्बन्ध में केंद्रीय गृह मंत्री से भी सहयोग की माँग की है जिनके नियंत्रण में दिल्ली पुलिस है। उन्होंने इन नेताओं को कहा है कि वह अपने सम्बन्धित क्षेत्रों को नशे के तस्करों के लिए किसी भी तरह का सुरक्षित अड्डा न बनने देना यकीना बनाएं।
    कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के इलावा हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंंधरा राजे को नशे की समस्या संबंधी अलग अलग पत्र लिखे हैं ।
    हमारी भावी पीढिय़ों के लिए नशा गंभीर चुनौती होने की बात कहते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि चाहे उनकी सरकार ऐसा न होने देने के लिए वचनबद्ध है परन्तु फिर भी वह उनका पूरा सहयोग चाहते हैं और इस सम्बन्ध में उनको अपील करते हैं । उन्होंने पंजाब में नशे की कुरीति को रोके जाने के लिए उठाए जा रहे कदमों के लिए उनके सक्रिय समर्थन की माँग की है ।
    अपने पत्रों में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने उन नेताओं को विनती की है कि वह पुलिस सहित कानून लागू करने वाली एजेंसियोंँ को सलाह दें कि वह नशों के सम्बन्ध में पंजाब पुलिस के साथ तालमेल करें और नशों की कुरीति को नकेल डालने के लिए सांझा कोशिशें करें।  उन्होंने मुख्यमंत्रियों को यह विनती भी की कि वह नशे के प्रयोग पर नियंत्रण और रोकथाम के लिए एक राष्टीय नीति तैयार करवाने के लिए भारत सरकार पर दबाव डालें। उन्होंने कहा कि देश में नशे की रोकथाम और इनपर काबू पाने के लिए राष्ट्रीय नीति बहुत ज़रूरी है । उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्यों में तालमेल और सहयोग करने के लिए भी यह अपेक्षित है । मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब पुलिस नशे के तस्कारों  पर नकेल डालने के लिए सक्रिय है और इसने इस सम्बन्ध में काफी सारी ख़ुफिय़ा जानकारी एकत्रित कर ली है । उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस लाजि़मी तौर पर आपके राज्यों की पुलिस और कानून लागू करने वाली अन्य एजेंसियों से यह सूचना सांझी कर सकती है ।
    केंद्रीय गृह मंत्री को लिखे पत्र में मुख्यमंत्री ने कहा कि उपलब्ध सूचना के मुताबिक नशे के तस्कर पंजाब से आलोप हो गए हैं और वह पड़ोसी राज्यों में छिपे हुए हैं । अंतरराष्ट्रीय सरहद के पार नशे की तस्करी होने के इलावा हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान और दिल्ली जैसे पड़ोसी राज्यों के द्वारा भी पंजाब में नशे की तस्करी होने की रिपोर्टें हैं । उन्होंने कहा कि नशे के पौधों की खेती पंजाब के लिए चिंता वाली बात है क्योंकि नशे की खेती वाले राज्यों से पंजाब को नशे की सप्लाई हो रही हैं ।
    मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्रीय शासित प्रदेश दिल्ली सीधे तौर पर भारत सरकार के गृह मंत्री के नियंत्रण और निगरानी अधीन है । उपलब्ध सूचना के मुताबिक नशा तस्करों के लिए दिल्ली का इलाका सुरक्षित अड्डा बना हुआ है । मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री को कहा कि वह दिल्ली पुलिस को निर्देश जारी करें कि वह नशे के तस्करों को काबू करें और नशा रोकने के लिए प्रभावी रणनीति तैयार करें ।
    कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने पंजाब पुलिस सहित पड़ोसी राज्यों के साथ नज़दीकी तालमेल बनाकर दिल्ली पुलिस को कार्य करने की सलाह देने के लिए भी राजनाथ सिंह से अपील की है जिससे समाज में से नशे का सफाया किया जा सके । उन्होंने कहा कि नशे के प्रयोग पर नियंत्रण और रोकथाम संबंधी राष्ट्रीय नीति के अधीन ही सांझी कोशिशों के द्वारा आगे आने वाली पीडिय़ों के भविष्य को सुरक्षित किया जा सकता है ।
    चारों नेताओं को लिखे पत्र में मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार ने राज्य में से नशे का सफाया करने और नशा तस्करों का अस्तित्व मिटाने के लिए एक मुहिम चलाई हुई है । इसके साथ ही नशे के आदी लोगों के इलाज और पुर्नवास के लिए हर संभव कोशिश की जा रही है ।
    कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि उनकी सरकार द्वारा तीन पड़ावों में ई.डी.पी रणनीति लागू की गई है जिसके तहत कानूनों को सख्ती से लागू करना, नशा छुड़वाना और नशे की रोकथाम करना शामिल है । इस नीति के बढिय़ा नतीजे निकलने शुरू हो गए हैं । पिछले कुछ सप्ताहों से पंजाब में नशे विरोधी लोक लहर शुरू करने में सफलता मिली है और नशा मुक्ति और पुर्नवास केन्द्रों में इलाज के लिए लोग बहुत ज़्यादा संख्या में आने लग पड़े हैं । मुख्यमंत्री ने कहा कि नशे के सम्बन्ध में नौजवानों में जागरूकता आ रही है और नशा मुक्ति केन्द्रों में संख्या का बढऩा इस बात का सबूत है ।
Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *