मुख्यमंत्री ने आगामी 10 अगस्त, 2018 को आयोजित होने वाले ‘वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट’ समिट के सम्बन्ध में की जा रही तैयारियों की समीक्षा की
लखनऊ: 01 अगस्त, 2018: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज यहां शास्त्री भवन में आगामी 10 अगस्त, 2018 को लखनऊ के इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित होने वाले ‘वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट’ समिट के सम्बन्ध में की जा रही तैयारियों की समीक्षा की। इस समिट में भारत के राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी, केन्द्रीय व राज्य सरकार के मंत्रिगण सहित उद्यमी सम्मिलित होंगे। इस समिट में राज्य सरकार और अमेजन, एन0एस0ई0/बी0एस0ई0 आदि के मध्य एम0ओ0यू0 का आदान-प्रदान किया जाएगा।
इस अवसर पर ओ0डी0ओ0पी0 योजनाओं, ओ0डी0ओ0पी0 वेबसाइट तथा टोल फ्री काॅल सेण्टर का शुभारम्भ भी किया जाएगा। साथ ही, काॅफी टेबल बुक का विमोचन होगा। प्रदेश के 75 जनपदों के ओ0डी0ओ0पी0 लाभार्थियों को चेक दिया जाएगा। डिजाइन वर्कशाॅप के प्रतिभागियों को चेक एवं टूल किट का वितरण किया जाएगा। इस समिट के दौरान एग्रो एण्ड फूड प्रोसेसिंग, क्राफ्ट एण्ड टूरिज्म, हैण्डलूम एण्ड टेक्सटाइल्स तथा क्रेडिट एण्ड फाइनेन्स के 04 सेशन भी आयोजित होंगे।
मुख्यमंत्री जी ने ‘वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट’ समिट के लिए पूरी तैयारी पुख्ता एवं समयबद्ध ढंग से किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि सम्बन्धित विभाग प्राथमिकता के आधार पर अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करें। उन्होंने कहा कि यह समिट उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों के लोकप्रिय पारम्परिक उत्पादों के प्रदर्शन का अवसर है। साथ ही, यह इस प्रदेश की कलाओं और हस्तशिल्पियों को प्रोत्साहन देने के साथ-साथ राज्य की छवि को उभारने और निखारने का प्रतिष्ठित आयोजन है। उन्होंने इस समिट के सफल आयोजन के लिए मीडिया प्लान बनाकर समुचित प्रचार-प्रसार किए जाने, ओ0डी0ओ0पी0 की ब्राण्डिंग करने तथा मीडिया प्रमोशन किए जाने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री जी ने इस समिट में प्रतिभाग करने वाले चिन्ह्ति अति विशिष्ट महानुभावों को सुविधाएं उपलब्ध कराने, उनके परिवहन के साथ-साथ सुरक्षा व्यवस्था भी सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रोटोकाॅल कार्यों का सफल संचालन एवं समन्वय सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने इस समिट के दौरान आयोजित की रही ‘ओ0डी0ओ0पी0’ प्रदर्शनी को आम जनता के साथ-साथ स्कूली बच्चों के प्रतिभाग किए जाने के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पूरे लखनऊ शहर का सौन्दर्यीकरण एवं साफ-सफाई की व्यवस्था भी की जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कार्यक्रम स्थल तक आने-जाने के रूट्स पर ट्रैफिक के सुचारु प्रबन्धन के निर्देश देते हुए कहा कि आवागमन के दौरान कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए। उन्होंने इस समिट के सभी 75 जनपदों में सजीव प्रसारण की सुचारु व्यवस्था किए जाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह समिट उत्तर प्रदेश के विकास और लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम साबित होगा। समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री जी ने ‘वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट’ समिट के सम्बन्ध में दिए गए प्रस्तुतिकरण को देखा और आवश्यक सुझाव व दिशा-निर्देश भी दिए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पारम्परिक शिल्प एवं लघु उद्यमों के संरक्षण तथा उसमें अधिक से अधिक व्यक्तियों को रोजगार प्रदान करने व उनकी आय में वृद्धि के लिए ‘वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट’ योजना आरम्भ की गई है। प्रदेश के विभिन्न जनपदों के विशिष्ट उत्पादों को राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर ब्राण्डिंग के साथ-साथ उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार, तकनीकी उन्नयन, कारीगरों एवं हस्तशिल्पियों के कौशल विकास किए जाने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि इस योजना से जुड़ी महत्वपूर्ण अवस्थापना सुविधाओं का विकास सुनिश्चित किया जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ओ0डी0ओ0पी0 योजना के सम्बन्ध में सभी आवश्यक सुविधाएं और मार्गदर्शन शिल्पियों और कारीगरों को उपलब्ध कराई जाएं। उन्होंने कहा कि धातु शिल्प कार्यों के लिए मुरादाबाद, इत्र के लिए कन्नौज, बांसुरी के लिए पीलीभीत, कांच उद्योग के लिए फिरोजाबाद जनपद विश्व विख्यात हैं। ऐसे में सबका दायित्व है कि विभिन्न जनपदों के उत्पादों को उत्कर्ष तक पहुंचाने के लिए इन उद्योगों एवं व्यवसायों से जुड़े उद्यमियों एवं कारीगरों, वर्करों को विशेष सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि उद्यमी, कारीगर एवं वर्कर आधुनिकता को दृष्टिगत रखते हुए उत्पादों में गुणात्मक सुधार लाएं, तो निश्चित ही जनपदों और प्रदेश का चहुंमुखी विकास होगा और रोजगार के नए अवसर भी मिलेंगे। उन्होंने ओ0डी0ओ0पी0 योजना को प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्टैण्ड-अप इण्डिया और स्टार्ट-अप इण्डिया के साथ जोड़कर विकसित किए जाने की बात कही।
बैठक के दौरान मुख्य सचिव व औद्योगिक एवं अवस्थापना विकास आयुक्त डाॅ0 अनूप चन्द्र पाण्डेय ने मुख्यमंत्री जी को समिट से सम्बन्धित विभिन्न विषयों पर विस्तार से जानकारी दी। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन सचिव श्री भुवनेश कुमार ने 10 अगस्त, 2018 को आयोजित किए जा रहे ‘वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट’ समिट की तैयारियों के सम्बन्ध में अवगत कराया। इस अवसर पर सचिव मुख्यमंत्री श्री मृत्युंजय कुमार नारायण सहित ओ0डी0ओ0पी0 समिट व योजना से जुड़े वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।
Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *