झज्जर के मातनहेल में बनने वाले सैनिक स्कूल के लिए जमीन उपलब्ध करवाने और भवन निर्माण के लिए बजट की मंजूरी दे दी है

चण्डीगढ़,15 जुलाई – हरियाणा सरकार ने झज्जर के मातनहेल में बनने वाले सैनिक स्कूल के लिए जमीन उपलब्ध करवाने और भवन निर्माण के लिए बजट की मंजूरी दे दी है। इस स्कूल का शिलान्यास तत्कालीन रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नान्डीज़ ने 2003 में किया था। कांग्रेस सरकार के दस वर्ष के शासन में इस दिशा में कोई प्रयास नहीं किया गया जिसकी वजह से स्कूल शुरू नहीं हो पाया। वर्तमान सरकार के प्रयासों से स्कूल की स्थापना का सपना जल्द हकीकत में बदलने जा रहा है।

वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने इस मुद्दे को 2014 में रेवाड़ी में हुई भाजपा की पूर्व सैनिक रैली में भी जोरशोर से उठाया था। इस रैली को उस समय भाजपा के प्रधानमन्त्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया था। स्कूल के शुरू होने से हरियाणा के छात्रों को बहुत लाभ होगा. हरियाणा में यह तीसरा सैनिक स्कूल होगा. वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने इसके लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का आभार जताया है।

हरियाणा के झज्जर जिले के मातनहेल गाँव में सैनिक स्कूल खुलने की योजना जल्दी ही धरातल पर उतरने वाली है। इस स्कूल के लिए हरियाणा सरकार ने गाँव मातनहेल और रुडियावास की करीब 100 एकड़ भूमि को स्कूल के नाम स्थानांतरित करने को मंजूरी दे दी है। हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने बताया की हरियाणा वीरों की भूमि है। हरियाणा के लाखों जवान देश की सीमाओं की रक्षा कर रहे हैं। सेना में हरियाणा की भागीदारी को देखते हुए पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नान्डीज़ ने झज्जर के मातनहेल में 7 सितम्बर 2003 को सैनिक स्कूल का शिलान्यास किया था। उसके करीब डेढ़ साल बाद केंद्र और राज्य में कांग्रेस की सरकार बन गई और सैनिक स्कूल की योजना को ठन्डे बस्ते में डाल दिया जिसकी वजह से यह स्कूल स्थापित नहीं हो पाया। विपक्ष में होते हुए भी उन्होंने इस मांग को जोर शोर से उठाया था और कांग्रेस सरकार से स्कूल को शीघ्र शुरू करने की मांग की थी लेकिन तत्कालीन सरकार ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया।

उन्होंने बताया की केंद्र और हरियाणा में भाजपा सरकार का गठन होते ही इस स्कूल को स्थापित करने की दिशा में संजीदा प्रयास शुरू किये गये। इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने रक्षा मंत्री को पत्र भी लिखा और रक्षा मंत्री की तरफ से जवाब आने के बाद सरकार ने स्कूल के लिए जमीन, इन्फ्रास्ट्रक्चर और अन्य सुविधाएं देने के लिए कार्यवाही शुरू की। इसी के चलते स्कूल के लिए ज़मीन ट्रांसफर का कार्य सबसे पहले किया गया है. प्रदेश सरकार ने इस स्कूल के लिए ज़मीन को ट्रांसफर करने की मंजूरी दे दी है।

वित्त मंत्री ने बताया की एक पूर्व सैनिक होने की वजह से यह स्कूल उनके दिल के करीब है और वे चाहते हैं की स्कूल जल्द से जल्द खुले। उन्होंने कहा की स्कूल के भवन के साथ अन्य इन्फ्रास्ट्रक्चर के निर्माण पर हरियाणा सरकार की तरफ से तीन साल में करीब 50 करोड़ रूपये खर्च किये जाने का प्रस्ताव मंज़ूर किया गया है। इस सम्बन्ध में हरियाणा सरकार और रक्षा मंत्रालय के बीच एमओयु भी जल्दी साईन किया जाएगा। हरियाणा में पहले से ही करनाल के कुंजपुरा और रेवाड़ी में सैनिक स्कूल चल रहे हैं और मातनहेल में सैनिक स्कूल शुरू होते ही इनकी संख्या तीन हो जायेगी जो हरियाणा के लिए एक बड़ी उपलब्धि होगी। इसके साथ ही हरियाणा देश का ऐसा अकेला राज्य बन जाएगा जिसमे तीन सैनिक स्कूल होंगे।

Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *