हथिनीकुण्ड बैराज के आसपास और यमुना नदी के साथ-साथ उसकी सहायक नदियों में पिछले 72 घण्टे में लगातार वर्षा के कारण यमुना का जल स्तर बढ़ा है

चण्डीगढ़, 29 जुलाई – हरियाणा सिंचाई विभाग के प्रधान सचिव श्री अनुराग रस्तोगी ने कहा कि हथिनीकुण्ड बैराज के आसपास और यमुना नदी के साथ-साथ उसकी सहायक नदियों में पिछले 72 घण्टे में लगातार वर्षा के कारण यमुना का जल स्तर बढ़ा है और कल सायं हथिनीकुण्ड बैराज से लगभग 6 लाख क्यूसिक पानी बहकर आगे गया है। उन्होंने कहा कि सिंचाई विभाग के अधिकारी लगातार स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं और हर घण्टे की सूचना दिल्ली और राज्य के अन्य जिलों के अधिकारियों के साथ सांझा कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि यमुना में हर 5 से 7 साल के बाद यह स्थिति आती है और पिछले रिकार्ड पर नजर डाले तों वर्ष 2010 में लगभग 8 लाख क्यूसिक और वर्ष 2013 में लगभग 7.50 लाख क्यूसिक पानी हथिनीकुण्ड बैराज से बहा था। उन्होंने कहा कि यमुना के पानी को नियंत्रित करने के लिए तीन बैराज बनाए गये हैं, जिसमें से एक बैराज हथिनीकुण्ड है, जो हरियाणा के पास है, जबकि एक बैराज वजीराबाद में है, जो दिल्ली के पास है। इसी प्रकार, एक बैराज ओखला में है जो उत्तर प्रदेश के पास है। उन्होंने कहा कि बैराज में पानी को स्टोर नहीं किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि जब यमुना में पानी 2.50 लाख क्यूसिक से ऊपर जाता है तो उसे तकनीकी रूप से हाई फ्लड कहते हैं, लेकिन इससे कहीं किसी आवादी को नुकसान नहीं होता है और अब तक हरियाणा में किसी भी तरह के जानमाल की सूचना नहीं प्राप्त हुई है और पानी अपने तरीके से लगातार बह रहा है।

श्री रस्तोगी ने बताया कि यमुना के जल स्तर से सम्बन्धित मुख्यमंत्री ने आज वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक बुलाई, जिसमें मुख्यमंत्री ने आवश्यक दिशानिर्देश दिए। उन्होंने बताया कि सिंचाई विभाग के अधिकारी युमना नदी के जल स्तर को लेकर दिल्ली के अधिकारियों के साथ-साथ सेना के अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित किए हुए हैं। ताकि किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटा जा सके।

Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *