हरियाणा के निर्वाचन विभाग को आईटी पहल ‘हरियाणा चुनाव भौगोलिक सूचना प्रणाली’ (एचईजीआईएस) के लिए प्रतिष्ठित ‘स्कॉच अवॉर्ड’ से सम्मानित किया गया है
चंडीगढ़, 18 जुलाई- हरियाणा के निर्वाचन विभाग को आईटी पहल ‘हरियाणा चुनाव भौगोलिक सूचना प्रणाली’ (एचईजीआईएस) के लिए प्रतिष्ठित ‘स्कॉच अवॉर्ड’ से सम्मानित किया गया है।
निर्वाचन विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री अंकुर गुप्ता ने विभाग की ओर से यह अवार्ड प्राप्त किया।
उन्होंने बताया कि विभाग ‘मतदाता शिक्षा, मतदाता पंजीकरण, मतदाता प्रेरणा’ से संबंधित जानकारी का प्रसार करने और नागरिकों, विशेषकर युवाओं को मतदान संबंधित गतिविधियों में सक्रिय भागीदारी के लिए प्रोत्साहित करने की दिशा में कार्य कर रहा है। विभाग की विभिन्न आईटी पहलों में से दो आईटी पहलों ने बेहतर शासन की दिशा में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है।
उन्होंने बताया कि हरियाणा चुनाव भौगोलिक सूचना प्रणाली (एचईजीआईएस) इन आईटी पहलों में से एक है, जो व्यापक बहु-स्तरीय जीआईएस प्लेटफार्म के साथ संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों, विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों, जिला, ब्लॉक और गांवों आदि से संबंधित किसी भी स्तर की जानकारी उपलब्ध करवाने में सक्षम है। इसके अलावा, विभिन्न सरकारी विभागों की विस्तृत जानकारी अब एचईजीआईएस पोर्टल पर आसानी से उपलब्ध है। यह जीआईएस प्लेटफार्म मतदान से पहले और मतदान के बाद के चरणों में जीआईएस लोकेशन आधारित विश्लेषण, आयोजना, डिसिज़न स्पोर्ट सिस्टम और सेवाएं प्रदान करने में उपयोगी है। एचईजीआईएस प्लेटफार्म को राज्य सरकार की वित्तीय सहायता के बिना क्रियान्वित किया गया है।
प्रवक्ता ने बताया कि दूसरी आईटी पहल ‘जियो-फैंस टैक्रॉलाजी’ नामक उभरती आईसीटी प्रौद्योगिकी है जिसमें प्रोप्राइटरी एल्गोरिथम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में अंतर्निहित होता है, जिसका उपयोग करके लक्षित दर्शकों की विशेष श्रेणी को फि़ल्टर और अलग किया जा सकता है और इस प्रकार उनकी पहचान सुनिश्चित करना एवं पंजीकरण करना संभव होता है। विभाग ने विशेष रूप से परिभाषित भौगोलिक क्षेत्र में 18 से 21 वर्ष के आयु वर्ग के युवा समूहों की पहचान करने के लिए इस तकनीक का उपयोग किया है।
उन्होंने बताया कि इस पहल का प्रभाव और परिणाम विभाग की अपेक्षाओं से कहीं अधिक रहा है और हितधारकों द्वारा इसे बहुत सराहा गया है क्योंकि ‘जियो-फैंस टैक्रॉलाजी’ का उपयोग करके प्राप्त आवेदक प्रतिक्रियाओं की संख्या विभाग द्वारा पहले शुरू गई दस्ती पहलों की तुलना में कहीं अधिक रही है। इसके अलावा, इस परियोजना को ‘जियो-फैंस टैक्रॉलाजी’ के उपयोग के संबंध में इसके सराहनीय प्रभाव के कारण भारत के चुनाव आयोग द्वारा ग्लोबल पब्लिकेशन (पृष्ठ 62-65) में स्थान दिया गया  है।
उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा शीघ्र ही प्रदेश के लोगों के लिए चुनाव संबंधी विभिन्न गतिविधियों के लिए मोबाइल एप्प भी शुरू किया जाएगा।
Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *