राज्यपाल ने कार्यालयों में कर्मचारी उपस्थिति की प्रगति की समीक्षा की
श्रीनगर 28 जुलाई 2018-वर्श 2014 तथा 2016 के दौरान राज्यपाल षासन की लद्यु समय अवधि में राज्यपाल एन.एन. वोहरा ने सभी विभागों तथा संस्थाओं के कर्मचारियों की पर्याप्त उपस्थिति सुनिष्चित करने हेतु सभी सरकारी कार्यालयों में बायोमिट्रिक उपस्थिति प्रणाली उपकरण स्थापित करने के निर्देष दिये थे, जबकि इन्हें लागू नहीं किया गया।
जब राज्य में हाल ही में राज्यपाल षासन लागू हुआ, उन्होंने 20 जून 2018 को राज्य नागरिक सचिवालय में मुख्य सचिव तथा सभी प्रषासनिक सचिवों के साथ एक बैठक आयोजित की। उन्होंने मुख्य सचिव को तत्काल कार्रवाई षुरू करने तथा पूरे राज्य के प्रत्येक कार्यालय में बायोमिट्रिक उपस्थिति प्रणाली स्थापित करने तथा यह सुनिष्चित करने के निर्देष दिये कि जो कर्मचारी अपने कार्य के दौरान सही समय पर कार्यालय नहीं पहुंचते हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई षुरू की जाये।
जैसे कि राज्य महा प्रषासन विभाग द्वारा दैनिक उपस्थिति रिपोर्ट राजभवन में भेजी जा रही है, और राज्यपाल ने महाप्रषासन विभाग के आयुक्त हिलाल अहमद परे तथा सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव सौगात विष्वास के साथ एक बैठक मेें आज इस मामले की व्यक्तिगत समीक्षा की है। विष्वास ने राज्यपाल को बताया कि आज तक राज्य में 307674 कर्मचारियों ने बायोमिट्रिक उपस्थिति प्रणाली पर स्वंय को पंजीकृत किया है तथा इसके साथ ही राज्य में सरकारी कर्मचारियों की कुल संख्या की पूरी जांच हेतु प्रयास जारी हैं।
राज्यपाल ने कहा है कि जबतक प्रत्येक कार्यालय में बायोमिट्रिक उपस्थिति प्रणाली पूरी तरह से षुरू नहीं हो जाती और प्रत्येक कर्मचारी आने जाने के समय पर अपनी उपस्थिति मार्क करना षुरू नहीं करता तब तक साप्ताहिक समीक्षा बैठकें आयोजित की जानी चाहिए।
इस संदर्भ में यह बताना अनिवार्य है कि मुख्य सचिव तथा सभी प्रषासनिक सचिवों को दिये गये अपने वास्तिवित निर्देषों में राज्यपाल ने यह निर्देष भी दिये हैं कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित किसी भी संगठन/संस्थान में काम करने वाले सभी डेलीवेजर/कैजूअल वर्करों को भी अपनी उपस्थिति मार्क करनी होगी। इसके अतिरिक्त उन्होंने निर्देष दिये कि प्रत्येक कंट्रोलिंग अधिकारी का यह कर्तव्य होना चाहिए कि वे कर्मचारियों की छुटटी का रिकार्ड और उनके यात्रा कार्यक्रमों का विवरण बायोमिट्रिक उपस्थिति प्रणाली पर अपलोड करें ताकि निगरानी अधिकारी डियुटी के दौरान अनुपस्थित कर्मचारियों पर निगरानी रख सकें।
राज्यपाल ने जीएडी आयुक्त सचिव परे को राज्य नागरिक सचिवालय में आने/जाने की उपस्थिति मार्किंग सुनिष्चित करने की सलाह दी।

Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *