राज्य के विकास और खुशहाली में संग्रहीत राजस्व की बड़ी भूमिका होती है: मुख्यमंत्री
 
उ0प्र0 सर्वाधिक उपभोक्ताओं वाला राज्य, इसलिए यहां राजस्व प्राप्ति की सम्भावनाएं भी असीम
 
राज्य सरकार का लक्ष्य है कि प्रदेश के व्यापारियों को पारदर्शी एवं प्रभावी कर व्यवस्था मिले
 
प्रदेश में जी0एस0टी0 को और बेहतर ढंग से लागू किया जाए, जिससे आने वाले समय में अधिक से अधिक व्यापारियों को पंजीकृत कर राजस्व बढ़ाने का काम किया जा सके
 
मुख्यमंत्री ने उ0प्र0 वाणिज्य कर सेवा संघ के 52वें वार्षिक अधिवेशन का उद्घाटन किया
लखनऊ: 13 जुलाई, 2018: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि किसी भी राज्य के विकास और खुशहाली में संग्रहीत राजस्व की बड़ी भूमिका होती है। क्योंकि इस संग्रहीत राजस्व से ही राज्य सरकार द्वारा विकास और लोक कल्याणकारी कार्याें को सम्पादित किया जाता है। इसके दृष्टिगत वाणिज्य कर विभाग के दायित्व अत्यन्त महत्वपूर्ण हैं।  राज्य सरकार द्वारा संग्रह किये जाने वाले राजस्व का सर्वाधिक भाग वाणिज्य कर विभाग द्वारा ही संग्रहीत किया जाता है। उन्हांेने कहा कि प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के देश और प्रदेश के सर्वांगीण विकास के संकल्प को साकार करने के लिए प्रतिबद्ध है।
मुख्यमंत्री जी आज यहां इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान मंे उ0प्र0 वाणिज्य कर सेवा संघ के 52वें वार्षिक अधिवेशन के उद्घाटन अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सर्वाधिक उपभोक्ताओं वाला प्रदेश है, इसलिए यहां राजस्व प्राप्ति की भी असीम सम्भावनाएं हैं। इस उद्देश्य की पूर्ति हेतु प्रदेश सरकार द्वारा निरन्तर कदम उठाये जा रहे हैं। प्रधानमंत्री जी द्वारा ‘एक राष्ट्र, एक बाजार, एक कर’ की संकल्पना को मूर्तरूप देते हुए 1 जुलाई, 2017 से पूरे राष्ट्र में समान कर-प्रणाली जी0एस0टी0 लागू की गयी। देश की अर्थव्यवस्था को नया आयाम देने के लिए यह आवश्यक था। राज्य सरकार का लक्ष्य है कि प्रदेश के व्यापारियों को पारदर्शी एवं प्रभावी कर व्यवस्था मिले।
मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश में सफलतापूर्वक जी0एस0टी0 लागू होने पर अधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश ने राजस्व संग्रह में अच्छा काम किया है। आवश्यकता इस बात की है कि इसे और बेहतर ढंग से लागू किया जाए, जिससे आने वाले समय में अधिक से अधिक व्यापारियों को पंजीकृत कर राजस्व बढ़ाने का काम किया जा सके।
इससे पूर्व, मुख्यमंत्री जी ने कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इस अवसर पर उन्होंने संघ की स्मारिका ‘संवाद’ का विमोचन भी किया।
इस मौके पर मुख्यमंत्री जी ने वाणिज्य कर विभाग के सेवानिवृत्त अधिकारी श्री एच0एन0 राव को उ0प्र0 अधीनस्थ सेवा चयन आयोग का सदस्य बनने तथा सुश्री कंचन सिंह गौर को क्लीमंजारों एवं एल्बु्रस पर्वत शिखरों पर विजय प्राप्त करने के उपलक्ष्य में सम्मानित किया।
कार्यक्रम के अवसर पर अपर मुख्य सचिव वाणिज्य कर श्री आलोक सिन्हा, कमिश्नर वाणिज्य कर श्रीमती कामिनी चैहान रतन, उ0प्र0 वाणिज्य कर सेवा संघ के अध्यक्ष श्री मनोज त्रिपाठी व पदाधिकारीगण सहित वाणिज्यकर विभाग के अन्य अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे।
Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *