पंजाब सरकार द्वारा अलग -अलग उद्योगों के साथ 455 करोड़ रुपए के समझौते सहीबद्ध

-पंजाब ऐपेरल एंड टेक्स्टाईल कन्नकलेव सूबे में औद्योगिक निवेश को उत्साहित करने में सफल रही

चंडीगढ़ /लुधियाना, 13 जुलाई :  पंजाब सरकार की तरफ से करवाई गई एक दिवसीय पंजाब ऐपेरल एंड टेक्स्टाईल कन्नकलेव सूबे में औद्योगिक निवेश को उत्साहित करने में बहुत सफल रही। सूबे में अपनी तरह की इस पहली कन्नकलेव के दौरान एक छत के नीचे एकत्रित हुए उद्योगपतियों ने जहाँ पंजाब सरकार के इस उपराले की बहुत श्लाघा की, वहीं मौके पर ही 455.34 करोड़ रुपए के समझौते सहीबद्ध हुए। यह समझौते देश की प्रमुख 9 औद्योगिक इकाईयाँ की तरफ से पंजाब सरकार के साथ किये गए।

          इन इकाईयों में विन गोन इंडिया प्राईवेट लिम. (150 करोड़ रुपए), फ़तेह अलाएज़ प्राईवेट लिम. (110.84 करोड़), फस्ट रिलायबल इंडस्ट्रीज (50 करोड़), अरीभा निट्टवियरज़ (50 करोड़), रोटाकसा आटो इंडिया प्राईवेट लिम. (39.5 करोड़), फ़तह अलाएज़ प्राईवेट लिम. (25 करोड़), माउंट मेरू इंडस्ट्रीज (10 करोड़), फैरो सोना गारमेंट्स प्राईवेट लिम. (10 करोड़) और यूनाइटिड इंटरनेशनल (10 करोड़) शामिल हैं। यह उद्योग टैक्निकल टेक्स्टाईल, कम्पोजिट हौजऱी, स्पिनिंग गारमेंट्स मैन्यूफैकचरिंग, फैब्रिक निटिंग, अपैरेल मैन्यूफैकचरिंग, सपिन्निंग, निटिंग, फैबरिकस, रेडिमेड गारमेंट्स, आटो पार्टस, सी.ए.स्टोव और पाईप मैन्यूफैकचरिंग क्षेत्रों के साथ सम्बन्धित हैं।

          इस मौके उद्योगपतियोंं को पंजाब में निवेश के लिए उत्साहित करने के लिए उद्योग और वाणिज्य विभाग के कैबिनेट मंत्री श्री सुन्दर शाम अरोड़ा ने पंजाब सरकार की तरफ से लाई जा रही नयी औद्योगिक नीति पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि जबसे कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार ने नयी औद्योगिक नीति पर ज़ोर दिया है, उस समय से सूबे में हज़ारों करोड़ रुपए के निवेश के लिए रास्ता साफ हुआ है। उन्होंने उद्योगपतियोंं को कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से निवेशकारों को निवेश के लिए उत्साहित करने के लिए अब डिप्टी कमिशनर दफ़्तर में सिंगल विंडो प्रणाली की शुरुआत की जा चुकी है, जहाँ से 10 करोड़ रुपए तक का उद्योग लगाने के लिए मंज़ूरी बिना किसी परेशानी के मिलेगी।

          लुधियाना समेत सूबे के अलग -अलग हिस्सों के साथ सम्बन्धित प्रमुख औद्योगिक इकाईयों के नुमायंदों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि उद्योग प्रति पंजाब सरकार की हाँ -समर्थकी नीति और नीयत के चलते सूबे में दिन -ब-दिन उद्योग समर्थकी माहौल पैदा हो रहा है। इस मौके पर उद्योगपतियों ने भी श्री अरोड़ा को भरोसा दिलाया कि वह सूबे में और निवेश करने से भी पीछे नहीं हटेंगे। इस दौरान उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव श्री राकेश कुमार वर्मा, उद्योग विभाग के डायरैक्टर स. डी. पी. एस. खरबन्दा और अन्य भी उपस्थित थे।

Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *