पंजाब में लागू होगी देश की सर्वोत्त्म औद्योगिक नीति -सुंदर शाम अरोड़ा
-कहा ! पंजाब सरकार उद्योगपतियों के कल्याण के लिए वचनबद्ध
-नई नीति से देश-विदेश के निवेशक पंजाब में निवेश के लिए उत्साहित होंगे
-कांग्रेस पार्टी के कार्यकाल के दौरान अब तक 9300 करोड़ का निवेश सिरे चढ़ा
-दिसंबर 2018 तक सारा वैट रिफंड करने का भरोसा
-नयी औद्योगिक नीति के लिए सभी पक्षों के सुझाव लिए जा रहे हैं
-लुधियाना में हुई पंजाब ऐपेरल एंड टेक्स्टाईल कन्नकलेव में उद्योग और वाणिज्य मंत्री द्वारा मुख्य मेहमान के तौर पर की शिरकत
चंडीगढ़ /लुधियाना, 13 जुलाई: पंजाब सरकार के उद्योग और वाणिज्य विभागों के कैबिनेट मंत्री श्री सुंदर शाम अरोड़ा ने दावे के साथ कहा है कि पंजाब में लागू की जाने वाली औद्योगिक नीति देश के अन्य राज्यों से सर्वोत्त्म होगी। उन्होंने भरोसा दिया कि पंजाब सरकार राज्य में निवेश करने वाले उद्योगपतियों के कल्याण के लिए वचनबद्ध है, इसी कारण उनके साथ संबंधित प्रत्येक पक्ष के सुझाव लेकर ही औद्योगिक नीति तैयार की जा रही है।
उन्होंने यह विचार आज यहां आयोजित की गई अपनी तरह की पहली पंजाब ऐपेरल एंड टेक्स्टाईल कन्नकलेव में बतौर मुख्य मेहमान के तौर पर संबोधित करते हुए प्रकट किये। यह कन्नकलेव कनफैड्डरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज (सी.आई.आई.), नॉर्दर्न इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ फ़ैशन टैक्नॉलॉजी (निफ़ट) मोहाली और मंत्री ऐडवाईजर्ज के सहयोग से करवाई गई। जिसमें श्री अरोड़ा के अलावा श्री राकेश पांडे, श्री सुरिन्दर कुमार डावर, श्री संजे तलवाड़ (सभी विधायक), श्री राकेश कुमार वर्मा प्रमुख सचिव उद्योग और वाणिज्य विभाग, श्री.डी.पी.एस. खरबन्दा निर्देशक उद्योग और वाणिज्य विभाग और अन्य बड़ी संख्या में उपस्थित थे।
इस अवसर पर संबोधित करते हुए श्री अरोड़ा ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा लाई जा रही नई औद्योगिक नीति में छोटे और मध्यम उद्योगों को प्रफुलित करने पर और ज्यादा ध्यान दिया गया है। यह नीति अगले 8-10 दिन में तैयार हो जायेगी। उन्होंने उद्योगपतियों को न्योता दिया कि वह टेक्स्टाईल सहित अन्य क्षेत्रों में पंजाब में निवेश करने के लिए आगे आएं। नई नीति के अंतर्गत उनको हर तरह की सुविधा और इनसैंटिव मुहैया करवाई जायेगी। उन्होंने कहा कि विभिन्न उद्योगों की ज़रूरतों और सुझावों संबंधी जानने के लिए भविष्य में ऐसी कन्नकलेवें होती रहेंगी। उन्होंने कहा कि 3 अगस्त को लुधियाना में ही लौजिस्टिक सैक्टर से संबंधित राज्य स्तरीय कन्नकलेव करवाई जायेगी। उन्होंने कहा कि ऐसी कन्नकलेवज़ से उद्योगपतियों की ज़रूरतों और सुझावों को समझने में बहुत मदद मिलती है।
पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि जब से राज्य में कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली सरकार ने सत्ता संभाली है, तबसे अब तक 9300 करोड़ रुपए का निवेश कार्य शुरू हो चुका है, जो कि कैप्टन सरकार की बड़ी प्राप्ति है। उन्होंने कहा कि पंजाब में से उद्योगों का पलायन नहीं हो रहा, बल्कि मंडी गोबिन्दगड़ के बंद हुई 55 उद्योग फिर शुरू हो गए हैं। उन्होंने उद्योगपतियों को न्योता दिया कि वह उद्योगों चलाने के लिए सभी नियमों की पालना ज़रूरी तौर पर करें, उनको सरकार का कोई भी विभाग तंग परेशान नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि राज्य का बकाया सारा वैट रिफंड दिसंबर 2018 तक कलियर कर दिया जायेगा।
श्री अरोड़ा ने ऐलान किया कि शहर लुधियाना की औद्योगिक महत्ता को देखते हुए यहां एक और फोकल प्वाईंट विकसित किया जायेगा, जिसके लिए विभाग द्वारा जगह की तलाश की जा रही है। इसके अलावा शहर में निजी क्षेत्र का टेक्स्टाईल पार्क भी विकसित किया जायेगी। उन्होंने मध्यम दर्जे के उद्योगपतियों को भरोसा दिया कि कैबिनेट की मंज़ूरी मिलने पर उनके उद्योग, जिनका बिजली का लोड ज़्यादा है, को भी 5 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब के साथ बिजली मिला करेगी।
आज की कन्नकलेव के दौरान चार सैशन चले। जिनमें ‘उद्घाटनी सैशन’ , ‘पंजाब टेक्स्टाईल इंडस्ट्री को मुकाबला के काबिल बनाने के लिए इकौ -व्यवस्था तैयार करना’, ‘ब्रैंड बिल्डिंग और मल्टी चैनल अप्रोच टू रिटेल’ और पंजाब को रैडी फॉर टैकनिकल टेक्स्टाईल बनाना आदि शामिल था। इस प्रोग्राम की शुरुआत में श्री प्रशात अग्रवाल, संयुक्त मैनेजिंग डायरैक्टर टेक्स्टाईल, मंत्री ऐडवाईजर्ज ने पंजाब में टेक्स्टाईल क्षेत्र में निवेश की संभावनाओं और अन्य पक्षों संबंधी जानकारी दी।
इस अवसर परउपरोक्त के अलावा ट्राइडेंट समूह के चेयरमैन श्री राजिन्दर गुप्ता, वर्धमान टेक्स्टाईल लिम. के डायरैक्टर श्री डी. ऐल्ल. शर्मा, नगर निगम लुधियाना के सीनियर डिप्टी मेयर श्री शाम सुंदर मल्होत्रा, श्री महेश खन्ना जनरल मैनेजर जिला उद्योग केंद्र लुधियाना और अन्य उपस्थित थे।
Categories: Uncategorized

cdadmin

Editor in Chief of City Darpan, national hindi news magazine.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *